कचरे से खाद – स्वच्छता में नया आयाम

कचरे से खाद – स्वच्छता में नया आयाम

इंदौर बायपास के ट्रेचिंग ग्राउंड में कचरे से खाद बनाने का प्लांट लगाया है, जिसमें काम जोर-शोर से चल रहा है। गीले कचरे से खाद बनती है। नगर निगम की गाड़ी घर-घर से गीला और सूखा कचरा अलग से इकट्ठा करती है जिससे खाद बनाने में सुविधा होती है। कचरे से बनी खाद खेती के लिए वरदान साबित हो रही है और किसान बढ़-चढ़कर खाद खरीद रहे हैं। अनुमान है की ट्रेचिंग ग्राउंड जल्द कचरा मुक्त हो जायेगा। इस से आस-पास के रहवासियों को बड़ी राहत मिलेगी।

नगर निगम ने इंदौर में 10 से ज्यादा कॉलोनियों और अनेक उद्यानों में भी कचरे से खाद बनाने की यूनिट लगाई है। जो खाद बनेगी, वो उद्यानों के पेड़-पौधों के देखभाल में काम आएगी। इसे कहते है एक तीर से दो शिकार– कचरे की समस्या से हल एवं हरियाली फले-फूले।

शहर के रहवासी अपने घर में भी गीले कचरे से खाद बना सकते है, जिसमें लागत ना के बराबर है। केवल 3 मटकों से घर घर में कचरे को खाद में तब्दील कर सकते है और आपके घर में गमलों में पलने वाले पौधों के काम आएगा। मार्गदर्शन के लिए नगर निगम विशेषज्ञ से संपर्क कर सकते है। कचरा निपटान और स्वच्छता की ओर लोगों में बढ़ती जागरूकता एवं नगर निगम की महत्वपूर्ण योजनाओं से निश्चित ही इंदौर 2018 के सफाई सर्वेक्षण में भी न.1 रहेगा।

.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *